स्कॉट ने की बाईपास सर्जरी पर सही जीवन दिया आयुष ग्राम ट्रस्ट चित्रकूट ने !!



भूरा प्रसाद पटेल जी 

                बीएसएनएल ऑफिस के कर्मचारी पद से रिटायर्ड हूँ। मुझे अचानक सीने में असहनीय दर्द उठा, मेरे परिवार के लोग मुझे घबराकर रीवा ले गये, रीवा में कुछ जाँचें करवायीं गयीं और कुछ अंग्रेजी दवायें भी दी गयीं, लेकिन सीने का दर्द कम नहीं हुआ, तो रीवा के डॉक्टर ने मुझे दिल्ली स्कोर्ट हॉस्पिटल रिफर कर दिया, वहाँ मेरी एंजियोग्राफी हुयी।
            दिल्ली में मेरी ईको भी हुयी, जाँच आने के बाद स्कॉर्ट के डॉक्टरों ने कहा कि आपका हार्ट LVEF २५ % ही काम कर रहा है इसके लिए आपको बाईपास सर्जरी करवानी पड़ेगी और वाल्ब भी चेंज करवाना पड़ेगा।


            हमने डर कर सन् २०१७ में बाईपास सर्जरी दिल्ली में करा दिया और वाल्ब भी बदला गया, यह सब होने के बाद डॉक्टर ने कहा कि आपको पूरे जीवनभर दवाओं के सहारे जीना पड़ेगा।


            इतना रुपया खर्च करने और हार्ट/बाईपास सर्जरी के बाद भी मुझे केवल २ साल तक आराम रहा लेकिन नवम्बर २०१९ में मुझे फिर से साँस लेने में समस्या होने लगी और सीने में दर्द, चलने में समस्या, घबराहट, बेचैनी होने लगी, फिर से मुझे दिल्ली के मनीपाल हॉस्पिटल ले जाया गया, वहाँ के डॉक्टर ने एंजियोग्राफी करवायी, एंजियोग्राफी के बाद डॉक्टर ने बताया कि आपका वाल्ब फिर से खराब हो गया है फिर वाल्ब चेंज करवाना पड़ेगा। अब मैं घबरा गया और घर आ गया। सोचता रहा कि अब तो उतना पैसा भी नहीं है और शरीर भी कमजोर हो गया। मैंने कहा कि जब मेरी यह दशा होनी थी तो मैं बाईपास सर्जरी पहले ही न कराता। मैं परेशान तो था ही तभी मेरे एक मित्र के द्वारा आयुष ग्राम ट्रस्ट चिकित्सालय की आयुष कार्डियोलॉजी चित्रकूट के बारे में पता चला। मेरे मित्र ने यहाँ से अपना हार्ट का इलाज करवा चुके हैं।


            मैं १५ दिसम्बर २०१९ को आयुष ग्राम ट्रस्ट, सूरजकुण्ड रोड, चित्रकूट पहुँचा, मेरा रजिस्ट्रेशन हुआ, मेरा नम्बर आने पर मुझे हार्ट, किडनी, रीढ़ चिकित्सा विभाग की ओपीडी में डॉक्टर मदनगोपाल वाजपेयी जी के पास बुलाया गया। उन्होंने अपने स्तर से जाँच की और समस्यायें पूछीं, सारी जाँचें देखीं। जाँच देखने के बाद बोले कि आप बिल्कुल चिन्ता न करें पटेल जी! अब किसी ऑपरेशन की जरूरत नहीं पड़ेगी। आपको १० दिन की यहाँ कुछ आयुर्वेदीय थैरेपी दी जायेंगी। मैं उनकी बात सुनकर कहा कि सर! आप १ हफ्ते की दवा लिख दीजिए फिर १ हफ्ते बाद मैं १० दिन के लिए आ रहा हूँ। मैं १ हफ्ते की दवा लेकर घर आ गया और फिर १० दिन के लिए यहाँ रहकर थैरापी ली, बहुत ही आराम दायक, आनन्द दायक चिकित्सा। एक विशेष तैल से सर्वांगधारा करवायी कुछ दवाओं का लेप, शरीर के दोषों का निर्हरण, खान-पान परिवर्तन किया गया।



आज मेरा डिस्चार्ज है और मैं किसी चीर-फाड़ के केवल आयुष कार्डियोलॉजी की चिकित्सा से ६० % ठीक महसूस कर रहा हूँ। मेरी साँस फूलना बन्द हो गयी, अब मुझे नींद भी आने लगी और सीने के दर्द में आराम हो गया, अब पसीना भी नहीं आता, घबराहट, बेचैनी बिल्कुल ठीक हो गयी, पेट भी अच्छा साफ होने लगा, मेरी अंग्रेजी दवायें भी सारी बन्द हो गयीं।



            मैं और मेरा पूरा परिवार इस संस्थान का बहुत आभारी है जिसने मुझे दुबारा ऑपरेशन व खर्चे से बचा लिया और जीवन दे दिया। मैं तो सभी से कहता हूँ कि जब डॉक्टर बाईपास सर्जरी के लिए कहें तो आयुष कार्डियोलॉजी अपनायें। नहीं तो बार-बार ऑपरेशन कराना पड़ेगा।

भूरा प्रसाद पटेल (सेवानिवृत्त बीएसएनएल)
 पगरा (महुदर), तह.- अमरपाटन, सतना (म.प्र.)





डॉ. मदन गोपाल वाजपेयी
डॉ. मदन गोपाल वाजपेयी एक प्रख्यात आयुर्वेद विशेषज्ञ हैं। शास्त्रीय चिकित्सा के पीयूष पाणि चिकित्सक और हार्ट, किडनी, शिरोरोग (त्रिमर्म), रीढ़ की चिकित्सा के महान आचार्य जो विगड़े से विगड़े हार्ट, रीढ़, किडनी, शिरोरोगों को शास्त्रीय चिकित्सा से सम्हाल लेते हैं । आयुष ग्राम ट्रस्ट चित्रकूटधाम, दिव्य चिकित्सा भवन, आयुष ग्राम मासिक, चिकित्सा पल्लव और अनेकों संस्थाओं के संस्थापक ।



इनके शिष्यों, छात्र, छात्राओं की लम्बी सूची है । आपकी चिकित्सा व्यवस्था को देश के आयुष चिकित्सक अनुशरण करते हैं ।


काले हितं मितं ब्रूयादविसंवादि पेशलम ।।
समय पर, कम तथा सत्य एवं मधुर बोलना चाहिए।।


डॉ. अर्चना वाजपेयी

डॉ. अर्चना वाजपेयी एम.डी. (मेडिसिन आयु.) में हैं आप स्त्री – पुरुषों के जीर्ण, जटिल रोगों की चिकित्सा में विशेष कुशल हैं । मृदुभाषी, रोगी के प्रति करुणा रखकर चिकित्सा करना उनकी विशिष्ट शैली है । लेखन, अध्ययन, व्याख्यान, उनकी हॉबी है । आयुर्वेद संहिता ग्रंथों में उनकी विशेष रूचि है ।



सरकार आयुष को बढ़ाये मानव का जीवन बचाये!!
     सरकार को फिर से भारत में अंग्रेजी अस्पताल और अंग्रेजी मेडिकल कॉलेजों की जगह अच्छे और समृद्ध आयुष संस्थान खोलने चाहिए तथा उनसे पूरी क्षमता से कार्य लेना चाहिए। इससे भारत का मानव हार्ट के ऑपरेशनछेड़छाड़ स्टेंट और डायलिसिस जैसी स्थितियों से बचकर और हार्ट को स्वस्थ रख सकेगा। क्योंकि हार्ट के रोगी पहले भी होते थे आज भी होते हैं और आगे भी होते रहेंगे। जिनका सर्वोच्च समाधान आयुष में है। आयुष ग्राम चित्रकूट एक ऐसा आयुष संस्थान है जहाँ ऐसे-ऐसे रस-रसायनों/ औषध कल्पों का निर्माण और संयोजन करके रखा गया है जो जीवनदान देते हैं। पंचकर्म की व्यवस्था एम.डी. डॉक्टरों के निर्देशन में हो रही हैपेयाविलेपीयवागू आदि आहार कल्पों की भी पूरी उपलब्धता है इसलिये यहाँ के ऐसे चमत्कारिक परिणाम आते हैं।

आयुष ग्राम ट्रस्ट चित्रकूट द्वारा संचालित
   
आयुष ग्राम चिकित्सालय:चित्रकूट 
   मोब.न. 9919527646, 8601209999
 website: www.ayushgram.org



  डॉ मदन गोपाल वाजपेयी        आयुर्वेदाचार्यपी.जी. इन पंचकर्मा (V.M.U.) एन.डी.साहित्यायुर्वेदरत्न,विद्यावारिधि (आयुर्वेद)एम.ए.(दर्शन),एम.ए.(संस्कृत )
 प्रधान सम्पादक चिकित्सा पल्लव
                                  
डॉ अर्चना वाजपेयी                              एम.डी.(कायचिकित्सा) आयुर्वेद 

डॉ परमानन्द वाजपेयी                                                                   आयुर्वेदाचार्य



डॉ आर.एस. शुक्ल                                                                           आयुर्वेदाचार्य 



Post a Comment

0 Comments