बाईपास सर्जरी से बच गया : आयुष ग्राम चित्रकूट से!!


मैं नईगंज सदर जौनपुर में कपड़े का व्यापारी हूँ। ३ साल पहले मुम्बई घूमने गया था तो वहीं पर हार्ट अटैक आ गया। मेरे परिवार के लोग (जो साथ में थे) मुझे घबराकर मुम्बई के ही एक अस्पताल ले गये, वहाँ पर १ हफ्ते भर्ती रखा और खून की जाँचें करवायीं। अंग्रेजी दवायें चलीं और डॉक्टरों ने बाईपास सर्जरी के लिए कह दिया। मुझे चलने में समस्या हो रही थी, साँस बहुत फूल रही थी, मैं बहुत परेशान था, घबराहट होती रहती थी कि फिर से कोई अटैक न आ जाये।

सत्यदेव सिंह जी 

           
मैं बाम्बे से बनारस आ गया, वहाँ के एक अंग्रेजी हास्पिटल में दिखाया, बनारस में ही ईसीओ व एंजियोग्राफी जाँच करवायी। जाँच आने के बाद डॉक्टरों ने ८० % के तीन ब्लॉकेज बताये और बताया कि Lvef (लेफ्ट वेंटिकुलर इजेक्शन फ्रेक्शन) ३० % ही है। बनारस में भी बाईपास सर्जरी के लिए कहा। बाईपास सर्जरी के लिए बनारस से दिल्ली के लिए रिफर कर दिया गया। २ दिन बाद बाईपास सर्जरी होनी थी पर यह भी देख रहा था कि जो लोग बाईपास सर्जरी या स्टेंट डलवाये हैं पर खुश भी नहीं और उनमें भी फिर ब्लॉकेज होकर फिर स्टेंट व बाईपास सर्जरी होने लगता है। तभी एक मेरा मित्र मुझे मिलने आया उसने मुझे आयुष ग्राम (ट्रस्ट) चिकित्सालय के आयुष कार्डियोलॉजी चित्रकूट के बारे में पूरी जानकारी दी और कहा कि आप सिर्फ एक बार चित्रकूट जाकर हार्ट, किडनी, अस्थि रोग चिकित्सा विभाग के डॉ. मदनगोपाल वाजपेयी जी से परामर्श करो।



            मैं उसी दिन दिल्ली से घर आ गया और जौनपुर से दूसरे दिन आयुष ग्राम ट्रस्ट चिकित्सालय, चित्रकूट पहुँचा, बहुत भीड़ थी। पर हमारे जिले के कई लोग इस चिकित्सालय में हर माह जाते हैं। वहाँ पर मेरा पर्चा बना फिर मेरा नम्बर आने पर ओपीडी-२ में बुलाया गया। उन्होंने नाड़ी देखी, सारी रिपोर्ट्स देखीं और कुछ खून की जाँच करवायी फिर जाँच आने के बाद फिर से बुलाया गया। उन्होंने मुझे आश्वस्त किया कि आप बिल्कुल परेशान न हों आपको यहाँ का इलाज शुरू होने के बाद अब हार्ट अटैक नहीं आयेगा और १० माह इलाज करें। मैंने वहाँ की सलाह के अनुसार चिकित्सा अपनायी और तीन दिन में ही फायदा होने लगा।



            एक माह की चिकित्सा के बाद दूसरे माह फिर आयुष ग्राम चित्रकूट गया, उन्हें सारी बात बताई। डॉक्टर साहब ने फिर समझाया कि अब आपको अटैक नहीं आयेगा। मैं खुश हो गया और मुझे विश्वास भी हो गया कि मैं बिल्कुल स्वस्थ्य हो जाऊँगा, मुझे कोई ऑपरेशन नहीं करवाना पड़ेगा क्योंकि मेरी परेशानियाँ दूर हो रहीं थीं और मुझमें ताकत भी आती जा रही थी।
            आज मुझे ६ माह इलाज करवाते हो गये और अब मुझे ९५ % से भी ज्यादा आराम है, उन्होंने तो १० माह तक इलाज के लिए बोला था लेकिन मैं ६ माह में ही पूर्ण स्वस्थ हो गया हूँ मैंने ६ माह बाद इकोकराया तो देखकर डॉक्टर भी हैरान रह गये कि अब मेरा Lvef ३० % बढ़कर ५४ % हो गया। मेरी अंग्रेजी दवायें बन्द हो गयीं मैं और मेरा पूरा परिवार बहुत खुश हैं।



            अंग्रेजी डॉक्टर जिन्दगीभर दवा खाने के लिए कह रहे थे और अब ६ माह में एक भी बार कोई अटैक नहीं आया। मैं तो सभी को सलाह देता हूँ कि जब भी अंग्रेजी डॉक्टर हार्ट की सर्जरी या स्टेंट की सलाह दें तो आप आयुष ग्राम (ट्रस्ट) चित्रकूट की आयुष कार्डियोलॉजी में जायें। मेरी तरह सभी लोग हार्ट की सर्जरी व स्टेंट से बचें, मेरी यही भावना है।
            अब तो अमेरिका ने भी स्टेंट और बाईपास सर्जरी पर सवाल उठा दिया और साफ-साफ कह दिया कि हार्ट के मरीजों के लिए स्टेंट और बाईपास कारगर नहीं बल्कि औषधीय चिकित्सा कारगर है। मैं २ डी इको कार्डियोग्राफी की पहले की और अब की रिपोर्ट प्रकाशित करा रहा हूँ सभी देखें।

आयुष ग्राम चिकित्सालय के आयुष कार्डियोलॉजी  में उपचार से पहले की रिपोर्ट 


आयुष ग्राम चिकित्सालय के आयुष कार्डियोलॉजी  में उपचार के समय की रिपोर्ट 



सत्यदेव सिंह,
नईगंज, जौनपुर (उ.प्र.)
९४५२३९७०२९




आत्मवत्सततं पश्येदपि कीटपिपीलिकम ।।
                     अ.हृ.सू. 2/23

कीड़े - मकोड़े तथा चींटी आदि प्राणियों को सदैव अपने समान समझना चाहिए ।।


डॉ. मदन गोपाल वाजपेयी


डॉ. मदन गोपाल वाजपेयी एक प्रख्यात आयुर्वेद विशेषज्ञ हैं। शास्त्रीय चिकित्सा के पीयूष पाणि चिकित्सक और हार्ट, किडनी, शिरोरोग (त्रिमर्म), रीढ़ की चिकित्सा के महान आचार्य जो विगड़े से विगड़े हार्ट, रीढ़, किडनी, शिरोरोगों को शास्त्रीय चिकित्सा से सम्हाल लेते हैं । आयुष ग्राम ट्रस्ट चित्रकूटधाम, दिव्य चिकित्सा भवन, आयुष ग्राम मासिक, चिकित्सा पल्लव और अनेकों संस्थाओं के संस्थापक ।

इनके शिष्यों, छात्र, छात्राओं की लम्बी सूची है । आपकी चिकित्सा व्यवस्था को देश के आयुष चिकित्सक अनुशरण करते हैं ।


आयुष ग्राम ट्रस्ट चित्रकूट द्वारा संचालित
   
आयुष ग्राम चिकित्सालय:चित्रकूट 
   मोब.न. 9919527646, 8601209999
 website: www.ayushgram.org



  डॉ मदन गोपाल वाजपेयी        आयुर्वेदाचार्यपी.जी. इन पंचकर्मा (V.M.U.) एन.डी.साहित्यायुर्वेदरत्न,विद्यावारिधिएम.ए.(दर्शन),एम.ए.(संस्कृत )
 प्रधान सम्पादक चिकित्सा पल्लव
                                  
डॉ अर्चना वाजपेयी                              एम.डी.(कायचिकित्सा) आयुर्वेद 

डॉ परमानन्द वाजपेयी                                                                   आयुर्वेदाचार्य


डॉ आर.एस. शुक्ल                                                                           आयुर्वेदाचार्य 

Post a Comment

3 Comments

  1. जानकारी अच्छी है लेकिन एक बात और लगभग खर्च कितना आता है यह जरूर बताने की कृपा करें

    ReplyDelete
    Replies
    1. यदि एडमिट होते हैं, तो लगभग एक हजार से पंद्रह सौ रूपये लगभग जिसमे दवाएं रहना खाना पीना सब रहता है

      Delete
    2. यदि एडमिट नही होते हैं तो तीन से चार हजार रूपये की दवा एक महीने के लिए

      Delete