प्रातः काल भोजन 


          नैशेष्वाहारजातेषु  नावपक्वेषु बुद्धिमान |
   तस्मादन्यत्समश्नीयात्पालयिष्यन्बलायुषी || च.चि.१५/२४३

                जो बुद्धिमान व्यक्ति अपने शारीरिक बल और आयु की रक्षा करना चाहता है | वह रात्रि में किये गये भोजन के बिना पचे प्रातःकाल का भोजन न करें |



                                                                                                                आयुष ग्राम चिकित्सालयम
                                                                                                          सूरज कुंड रोड चित्रकूटधाम (उ.प्र.)
                                                                                                                  मोब. न. 9919527646
                                                                                                          website:www.ayushgram.org
 
                                                                                                                                                   

Post a Comment

0 Comments